भारत में गोद लेने के कानून

 
ENROLL NOW

भारत की तरह बहु-सांस्कृतिक तथा बहु-धार्मिक समाज में, कई एजेंसियाँ तथा प्रमुख विचारधाराएँ एक बच्चे के दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया को जटिल बना देतीं हैं। दंपत्ति तथा एकल अभिभावक, जो गोद लेना चाहतें हैं, प्रक्रिया, पालन किये जाने वाले द्रष्टिकोण तथा उचित उपायों की पर्याप्त जागरूकता का आभाव, दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया को कहीं अधिक जटिल बना देता है। इस अपर्याप्तता के चलते, भावी अभिभावक एजेंसियों द्वारा स्वीकृति अथवा अस्वीकृति के लिए वर्षों प्रतीक्षा करतें हैं, अपने माता-पिता बनाने के सपनों पर रोक लगा देते हैं।

इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य किसी भी प्रकार की उलझन को दूर करना तथा संभावित दत्तक माता-पिता, वकीलों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, छात्रों तथा शोधकर्ताओं को स्पष्टता तथा प्राधिकरण प्रदान करना है। दत्तक ग्रहण के नियमों, किशोर न्याय अधिनियम के तहत क़ानूनी कार्यवाही को मंजूरी, उनके दिशा-निर्देशोंम अधिकारीयों तथा शामिल एजेंसियों तथा हिन्दू, सिख, बुद्धिस्ट, मुस्लिम, क्रिस्चियन तथा पारसियों को शासित करने वाले व्यक्तिगत कानूनों पर परिज्ञान; का निरीक्षण किया गया है, जो इस पाठ्यक्रम को अधिक जानकारीपूर्ण बनता है।

पाठ्यक्रम का परिणाम

 
 

इस पाठ्यक्रम के समाप्त होने पर, आप सक्षम होंगें:

  • हिन्दू, जैन, सिख, बुद्धिस्ट, मुस्लिम, क्रिस्चियन तथा पारसियों के लिए दत्तक ग्रहण को शासित करने वाले निजी कानूनों में भेद;
  • दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया में शामिल विभिन्न अधिकारीयों तथा एजेंसियों की भूमिका तथा कार्यों को समझना;
  • दत्तक ग्रहण अधिनियम, 2017 के महत्व तथा इसके तहत उल्लेखित दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया की स्वीकृति।

पाठ्यक्रम की रूपरेखा

 
 
  • मोड्यूल 1 – दत्तकग्रहण का अर्थ
  • मोड्यूल 2 – हिन्दू, जैन, सिख तथा बुद्धिस्ट के लिए निजी कानून के तहत दत्तक ग्रहण
  • मोड्यूल 3 – मुस्लिम, क्रिस्चियन तथा पारसियों के लिए निजी कानून के तहत दत्तक ग्रहण
  • मोड्यूल 4 – दत्तक ग्रहण तथा सेण्टर एडॉप्शन रिसोर्स अथॉरिटी(केन्द्रीय दत्तक ग्रहण संसाधन अधिकारी) (सीएआरए) को शासित/नियंत्रित करने के कानून
  • मोड्यूल 5 – विशेष दत्तक ग्रहण एजेंसी
  • मोड्यूल 6 – दत्तक ग्रहण में संबंधित अधिकारीयों तथा एजेंसियों की भूमिका
  • मोड्यूल 7 – दत्तक ग्रहण के लिए अनिवार्य तथा दत्तक ग्रहण अधिनियम, 2017 के तहत गोद लेने/अपनाने की क्षमता
  • मोड्यूल 8 – दत्तक ग्रहण अधिनियम, 2017 के तहत बच्चों के दत्तक ग्रहण से संबंधित प्रक्रिया
  • मोड्यूल 9 – दत्तक ग्रहण अधिनियम, 2017 के तहत के तहत भावी दत्तक अभिभावकों के लिए दत्तक ग्रहण प्रक्रिया
  • मोड्यूल 10 – भावी दत्तक अभिभावकों की सामान्य पूछताछ
  • प्रमाणपत्र परीक्षा/ मूल्यांकन

किसको यह पाठ्यक्रम लेना चाहिए?

  • भावी अभिभावक
  • सामाजिक कार्यकर्ता तथा दत्तक ग्रहण एजेंसियाँ
  • वकील
  • कानून के छात्र तथा शोधकर्ता
  • भारत में दत्तक प्रक्रिया संचालन नियम में रूचि रखने वाले अन्य हितधारक
  • इस पाठ्यक्रम को करने के लिए आपका वकील होना अनिवार्य नहीं है

स्तर: शुरुआत

भाषा : हिंदी

आंकलन विधि

पाठ्यक्रम का प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए, पाठ्यक्रम के अंत में शिक्षार्थी का सभी असाइनमेंट्स का जमा करवाना तथा प्रमाण पत्र परीक्षा में कम से कम 50% अंक अर्जित करना अनिवार्य है।

लेखक के बारे में

कानूनी कौशल दल उत्साही तथा जोशीले कानूनी पेशेवेरों का एक समूह है जो शिक्षार्थी के लिए बातों को बेहतर बनाने का अतिरिक्त प्रयास करतें हैं। इस दल में वकील, शिक्षाविद, क़ानूनी संपादक तथा कानून के छात्र शामिल हैं जो व्यवहारिक पहलु को समझाने तथा हमारे शिक्षार्थियों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए व्यापक सामग्री को विकसित करने के लिए आपसी ताल मेल के साथ में काम करतें हैं।
 

Learners who viewed in this course, also viewed: